Bannerad

अनमोल वचन शायरी

जिंदगी में आप कितने खुश है 
यह महत्त पूर्ण नहीं है 
बल्कि महत्त्पूर्ण यह है की 
आपके कारन कितने लोग खुश है। 


डूबता है तो पानी को दोष देते है 
गिरता है तो पत्थर को दोष देते है 
इंशान भी बड़ा अजीव है 
कुछ कर नहीं पता तो 
किस्मत को दोष देते है। 


कर्म तेरे अच्छे है तो 
किस्मत तेरी दासी है 
नियत तेरी अच्छी है तो 
घर में मथुरा कासी है। 


जिंदगी के बदल जाने में 
कभी भी बक्त नहीं लगता 
कभी कभी वक्त बदल जाने में 
पूरी जिंदगी लग जाती है। 


असफलता अनाथ होती है लेकिन 
सफलता के माँ वाप ,रिश्तेदार ,दोस्त सभी होते है। 



जिनको अपने काम पर भरोसा होता है वो नौकरी करते है
जिनको अपने आप पर भरोसा होता है व्यापार करते है। 


कड़क लफ़्ज़ों में हलकी बात कहने की बजाय
नरम लफ़्ज़ों में ठोस बात कहिये। 

 दोस्ती उनसे रखो जो मुस्कुराते हों सदा 
मुस्कुराने की आदयें तुम को भी आ जायगीं

 दोस्ती शव्द नहीं जो मिट जाय 
उमर नहीं जो ढल जय 
सफर नहीं जो कट जय 
ये तो वो अहसास है जिसके लिय जिया जाय 
तो जिंदगी भी कम पड़ जय।

 ज़रूरतों और चाहतों में फर्क है बड़ा 
तालमेल बिठाते बिठाते गुजर जाती है जिंदगी।

 दुनिया में आदमी ही एक मात्र ऐसा प्राणी है 
जो पेड़ काटता है उसका कागज बनता है 
और उस पर लिखता है पेड़ बचाओ।

No comments: