Bannerad

अनमोल वचन शायरी

जो आपकी खामोसी से आपकी तकलीफ का अंदाज न कर सके 
उसके सामने तकलीफ का जुवान से इज़हार करना 
सिर्फ लफ्ज़ो को जाया करना ही है। 


कामयाब वियक्ति की चमक सिर्फ लोगो को दिखती है 
उसने कितने अँधेरे देखे ये कोई नहीं जनता। 


किसी वियक्ति को खाना देंगे तो 
उसका एक दिन के लिय पेट भरेगा 
यदि उसको काम करना सीखा देंगे तो 
उसका जिंदगी भर पेट भरेगा। 


जो चाहा वो मिल जाना सफलता है 
जो मिला उसको चाहा खुसी है। 


ज्ञान ही सबसे बड़ी अच्छाई है और 
अज्ञानता ही सबसे बड़ी बुराई है। 


कागज अपने नसीब से उठता है 
पर कागज की बानी पतंग अपनी कामयाबी से 
इसलिय नसीब के भरोसे मत बैठो काबिल बनो 
फिर तरक्ति तो तुम्हरे पीछे पड़ जायगी। 


आसानी से नहीं मिलती मंजिल किसी को 
तूफानों से टकराना पड़ता है 
कितना भी छू लो आसमा 
एक दिन घोसले में आना ही पड़ता है। 


तुम पानी जैसे बनो जो अपना रास्ता खुद बनता है 
पत्थर जैसे न बनो जो दूसरों का रास्ता भी रोक देता है। 


एक छोटी सी चीटी आपके पैर को काट सकती है 
पर आप उसके पैर को नहीं काट सकते 
इस लिय जीवन में किसी को छोटा न समझें 
वह जो कर सकता है सायद आप न कर पाये। 


यदि तन और मन में संतुलन है 
तो जीवन में सफलता अवस्य मिलेगी 
हरता वह है जो संतुलन खो देता है। 


अगर कोई आप पर आँख बंद कर के भरोसा करे तो 
आप उसे अहसास मत दिलाओ 
की वह सच में अँधा है।

No comments: