Bannerad

अनमोल वचन शायरी



दुनिया  के  साथ  सबसे  बड़ी  समस्या  ये  है  
कि  मूर्ख  और  कट्टरपंथी  खुद  को  लेकर  बिल्कुल   दृढ  होते  हैं ,
और  बुद्धिमान  लोग  संदेह  से  भरे  होते  हैं .
 
जब   आदमी  बाघ  को  मारना  चाहता  है  
तो  वो  इसे  खेल  कहता  है ;
जब  बाघ  उसे  मारना  चाहता  है  
तो  वो  इसे  क्रूरता  कहता  है .
 
  
 
आशावादी  और  निराशावादी  दोनों  ही  
समाज  के  लिए  योगदान  करते  हैं।
आशावादी  हवाईजाहज  का आविष्कार  करता  है ,
निराशावादी  पैराशूट  का  .
 
 सत्ता   व्यक्ति  को  भ्रष्ट  नहीं  बनाती ,
हालांकि , यदि  मूर्ख  सत्ता  में    जाते  हैं  
तो  वे  सत्ता  को  भ्रष्ट  बना  देते  हैं.
 
  
 
जब  कोई  बेवकूफ  आदमी  कुछ  ऐसा  कर  रहा  होता  है
जिससे  उसे  शर्म  आये , तो  वो  हमेशा  कहता  है  कि  ये  उसका  कर्तव्य   है .

No comments: