Bannerad

नवनीत हिन्दी दोहे



हर  व्यक्ति  की  आत्मा   अमर  होती  है  ,
लेकिन  जो  व्यक्ति  नेक  होते  हैं  उनकी  आत्मा  अमर  और  दिव्य होती  है


जहाँ तक मेरा सवाल है ,
मैं  बस  इतना  जानता  हूँ  कि  मैं  कुछ  नहीं  जानता.

   .

मित्रता  करने  में  धीमे  रहिये ,
पर  जब  कर  लीजिये  तो
उसे मजबूती से  निभाइए  और  उसपर स्थिर रहिये .


मृत्यु संभवतः मानवीय वरदानो में सबसे  महान  है .


चाहे  जो  हो  जाये  शादी  कीजिये .
अगर  अच्छी  पत्नी  मिली   तो  आपकी  ज़िन्दगी  खुशहाल रहेगी ;
अगर  बुरी  पत्नी  मिलेगी तो  आप  दार्शनिक  बन  जायेंगे .


 सौंदर्य एक अल्पकालिक अत्याचार है.


जहाँ सम्मान है वहां डर है ,पर ऐसी हर जगह सम्मान नहीं है
जहाँ डर है, क्योंकि संभवतः डर सम्मान से ज्यादा व्यापक है.


इस दुनिया में सम्मान से जीने का सबसे महान तरीका है
कि हम वो बनें जो हम होने का दिखावा करते हैं.


हमारी प्रार्थना बस सामान्य रूप से आशीर्वाद के लिए होनी चाहिए,
क्योंकि भगवान जानते हैं कि हमारे लिए क्या अच्छा है.

No comments: