Bannerad

वचन शायरी



जनरलस सोचते हैं कि
युद्ध मध्य युग की खेल-कूद प्रतियोगिताएं की तरह छेड़े जाने चाहिए .
मुझे शूरवीरों का कोई काम नहीं है ;
मुझे क्रांतिकारी चाहियें .

 
  नफ़रत नापसंदगी की तुलना में अधिक स्थायी होती है .

 
  मानवतावाद मूर्खता और कायरता की अभिव्यक्ति है.

 
मैं ज्यादातर लोगों के लिए भावना का प्रयोग करता हूँ
और कुछ के लिए कारण बचा कर रखता हूँ .
 
अगर आज मैं यहाँ एक क्रांतिकारी के रूप में खड़ा होता हूँ
तो यह क्रांति के खिलाफ एक क्रांतिकारी के खड़े होने के सामान होगा
 
यदि आप एक बड़ा झूठ बोलते हैं
और उसे अक्सर बोलते हैं
तो उस पर यकीन कर लिया जायेगा .

No comments: