Bannerad

Hindi Shayari



लोग क्या सोचेंगे इस बात की चिंता करने की बजाये क्यों
ना कुछ ऐसा करने में समय लगाएं जिसे प्राप्त करने पर लोग आपकी प्रशंशा करें.
 
आपके पास क्या है,या आप क्या हैं,
या आप कहाँ हैं,या आप क्या कर रहे हैं,
इन बातों से आप खुश या मायूस नहीं होते.
आप किस बारे में सोचते हैं उससे होते हैं.
 
 जब तक आप जो कर रहे हैं उसे पसंद नहीं करते
तब तक आप सफलता नहीं पा सकते.
 
दो साल तक औरों को खुद में रुचि लेने का प्रयास करने की अपेक्षा
आप दो महीने दूसरों में रुचि लेकर कहीं अधिक मित्र बना सकते हैं.
 

दुनिया की ज्यादातर महत्त्वपूर्ण चीजें उन लोगों द्वारा प्राप्त कि गयीं हैं
जो कोई उम्मीद ना होने के बावजूद अपने प्रयास में लगे रहे.

No comments: